Bhasha in Hindi Grammar # भाषा किसे कहते हैं और भाषा के प्रकार

आज के इस आर्टिकल में हिंदी व्याकरण Bhasha Kya Hai- Hindi Grammar के शुरूआती भाग भाषा Language के बारे में बताया गया हैं। जिसमे आप भाषा का परिभाषा और भाषा के प्रकार आदि के बारे में पढ़ सकते हैं।

Bhasha in Hindi Grammar # भाषा किसे कहते हैं और भाषा के प्रकार
Bhasha in Hindi Grammar # भाषा किसे कहते हैं और भाषा के प्रकार

Bhasha Kya Hai – भाषा किसे कहते हैं और भाषा के प्रकार की जानकारी

Bhasha (भाषा)– जिसके द्वारा मनुष्य अपने विचारों को लिखकर और बोलकर व्यक्त करता हैं, उसे भाषा कहते हैं।

अथवा,

शब्दों के द्वारा मन के विचारों के आदान-प्रदान के साधन को भाषा (Bhasha) कहते हैं।

Bhasha Ke Parkar in Hindi – भाषा के प्रकार

इस पूरी दुनिया अनेकों प्रकार की भाषाएँ पायी जाती हैं जिसकी माध्यम से व्यक्ति अपने विचारों का आदान-प्रदान करते हैं। हम कुछ प्रमुख्य प्रकार के भाषा के प्रकार जानते हैं:–

  1. हिंदी – Hindi✔️
  2. संस्कृत – (Sanskrit)
  3. अंग्रेजी – English✔️
  4. उर्दू – Urdu✔️
  5. बांग्ला – Bangla✔️
  6. भोजपुरी – Bhojpuri✔️
  7. संथाली – (Santhal)
  8. गुजराती – Gujrati✔️
  9. मराठी – (Marathi)✔️
  10. आसामी – Assamese✔️
  11. नेपाली – (Nepali)✔️
  12. सिंधी – (Sindhi)✔️
  13. ओरिया – (Oriya)✔️
  14. पंजाबी – (Punjabi)✔️
  15. तामिल – (Telugu)✔️
  16. तेलुगू – (Tamil)✔️
  17. और बहुत सारे प्रकार की, इत्यादि।

मनुष्य एक विवेकशील और विचारवान प्राणी है। वह पढ़कर और सुनकर विभिन्न प्रकार के विचारों को ग्रहण करता हैं तथा बोलकर या लिखकर अपने मन-मस्तिष्क में उत्पन्न भावों को व्यक्त करता हैं।

“भाषा” अपने विचारों और भावों को प्रकट करने का सबसे अच्छा साधन हैं जिससे एक व्यक्ति, दूसरे व्यक्ति से जुड़ पाते हैं।

अंतिम विचार:– हिंदी डीपी

सबसे महत्वपूर्ण हिंदी व्याकरण विषय:–

व्याकरण किसे कहते हैं।

Share With Your Friends

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *